amazing sad shayri 2020

Amazing Sad Shayri 2020                                                                          

 #1

तेरी फुर्सतों को खबर कहाँ
मेरी धडकने उदास हैं

Teri Fursaton Ko Khabar Kahan
Meri Dhadkane Sad Hain



#2 

राब्ते रिश्ते वास्ते कुछ नहीं पहले जैसा
दिल उदास और और बहुत उदास है। 



Rabtey Rastey Wastey Kuchh Nahin Pahle Jaisa
Dil Sad Aur Aur Bahot Sad Hai




#3 


‏उदास करने की उसने भी इन्तहा कर दी
उदास होने का मैने भी हक अदा किया। 



Udas Karne Ki Usne Bhi Inteha Kar Di
Sad Hone Ka Mainey Bhi Haq Ada Kiya




#4 


अपना लडना भी मोहब्बत है तुझे एल्म नही
चिल्लाती तुम रहे और मेरा गला बैठ गया। 



.Apna Ladna Bhi Mohabbat Hai Tujhe Elm Nahi
Chillati Tum Rahe Aur Mera Gala Baith Gaya



#5 
हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश 
 पर दम निकले बहुत निकले 
मेरे अरमान लेकिन फिर भी कम निकले।

hazaaron khvaahishen aisee ki har khavaahish
par dam nikale bahut nikale
mere aramaan lekin phir kam kharaab jale

#6 
हमको मालूम है जन्नत की हक़ीक़त लेकिन,
 दिल के खुश रखने को 'ग़ालिब' ये ख़याल अच्छा है। 

hamako maaloom hai jannat kee haqeeqat lekin,
dil ke khush rakhane ko gaalib ye khayaal achchha hai.

#7
“कितना बुरा लगता है,
जब बादल हो और बारिश ना हो,
जब आंखे हो और ख़्वाब ना हो,
जब कोई अपना हो और कोई पास ना हो।”

"kitana bura lagata hai,
jab baadal ho aur baarish na ho,
jab aankhe ho aur khvaab na ho,
jab koee apana ho aur koee paas na ho."

#8
“ज़िन्दगी में सबसे ज्यादा दुख दिल
टूटने पर नही भरोसा टूटने पर होता है,
क्योंकि हम किसी पर भरोसा कर के ही दिल लगाते है।”

"zindagee mein sabase jyaada dukhee dil
tootane par koee bharosa tootane par hota hai,
kyonki ham kisee par bharosa kar ke hee dil lagaate hai."


#9
"तेरी मोहब्बत को कभी खेल नहीं समझा गया,
वर्ना खेल तो बहुत खेले है मैंने कभी भी हारा नहीं"


"teree mohabbat ko kabhee khel nahin samajha gaya,

varna khel to bahut khele hai mainne kabhee bhee haara nahin"

#10

कैसे मिलेंगे हमें चाहने वाले बताइये,
दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह,
सजाएं मिली हमें गुनहगार की तरह।
वो बेवफ़ाई करके भी शर्मिंदा ना हुए,



kaise milenge hamen chaahane vaale bataiye,
duniya khadee hai raah mein deevaar kee tarah,
vo bevaphale bhee sharminda na huee,
sajaon ne hamen gunahagaar kee tarah pa liya.


#11

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,
ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,
कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।



bevaphaee usaka dil se hata ke aaya hoon,
khat bhee usake paanee mein baha ke aaya hoon,
koee padh na le ki bevapha kee yaadon ko,
isalie paanee mein bhee aag laga dee gaee hoon.


#12

तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं,
आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं,
पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर,
तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।



teree siva koee mere jaddojahad mein nahin,
aankhon mein vo namee hai jo barasaat mein nahin,
paane kee koshish tujhe bahut ki magar,
tu ek lakeer hai jo mere haath mein nahin hai.



#13
इन्ही पत्थरों पे चल कर अगर आ सको तो आओ,
मेरे घर के रास्ते में कोई कहकशाँ नहीं है।


inhee pattharon pe chal kar agar aa sako to aao,
mere ghar ke raaste mein koee kahakashaan nahin hai.


#14
बिछड़ कर आप से हमको ख़ुशी अच्छी नहीं लगती,
लबों पर ये बनावट की हँसी अच्छी नहीं लगती,
कभी तो खूब लगती थी मगर ये सोचते हैं हम,

कि मुझको क्यों मेरी ये ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती।

bichhad kar tum se hamako khushee achchhee nahin lagatee,
labon par ye banaavat kee hansee achchhee nahin lagatee,
ki mujhako kyon meree ye zindagee achchhee nahin lagatee.
kabhee to bech lagata tha lekin ye sochate hain ham,

#15
चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्ताँ सुनकर,
ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं और बयाँ हमसे होगा नहीं।

chalo ab jaane bhee do kya karoge daastaan sunakar,
khaamoshee tum samajhoge nahin aur baya hamen mana karenge.

#16
जब कभी फुर्सत मिले मेरे दिल का बोझ उतार दो,
मैं बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो।

jab kabhee phursat milee mere dil ka bojh utaar do,
main bahut dinon se udaas hoon mujhe koee shaamen do.

#17
अजब चिराग हूँ दिन-रात जलता रहता हूँ,
थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे।

ajab chiraag hoon din-raat jalata rahata hoon,
thak gaya hoon main hava se kaho bujhae mujhe.

#18
ना वो सपना देखो जो टूट जाये,
ना वो हाथ थामो जो छुट जाये,
मत आने दो किसी को करीब इतना,
कि उससे दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये|

na vo sapana dekho jo toot jae,
na vo haath thomo jo hona chaahie,
aane vaale kisee ko nahin, lagabhag itana,
ki usase door jaane se insaan khud se rooth jae |

#19
माना की आज हम अकेले रह गए
जुदाई के आंसू आंखो से बह गए
रोते हुए को कौन चुप कराएगा
जो चुप कराते थे वहीं रोने को कह गए !!

maana aaj ham akele rah gae
judaee ke aansoo aankho se bah gae
rote hue ko kaun chupachaap karega
jo chup rahate the vahaan rone ko kah gae !!

#20
फासले ऐसे भी होगे ये कभी सोचा न था
सामने बैठे थे मेरे पर वो मेरा न था

phaasale aise bhee honge ye kabhee socha na tha
saamane baithe the mere par vo mera na tha




















amazing sad shayri 2020 amazing sad shayri 2020 Reviewed by Fact Hacks on January 02, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.